खुले में शौच जाने की आदत बदलना जरूरी :प्रमिता चौधरी

0
542

आजतक खबरें,फरीदाबाद(अमित चौधरी):संस्कार फाउंडेशन की तरफ से नव वर्ष के शुभ अवसर पर अपने शहर फरीदाबाद में स्वच्छता अभियान चलाया गया।संस्कार फाउंडेशन की पूरी टीम ने बदरपुर बॉर्डर पर जाकर स्वच्छता अभियान चलाया।संस्था सदस्यों ने बदरपुर बॉर्डर पर लगे हुए फ्लाईओवर के खंभो,दीवारों और सार्वजनिक स्थानों पर पेशाब न करने के लिए समझाया लोगो को जागरूक किया.

संस्था सदस्यों ने उन्हें जागरूक करते हुए समझाया कि नजदीक ही सार्वजनिक शौचालय है जिस पर यह सुविधा निशुल्क उपलब्ध है तो कृप्या उसका उपयोग करें और अपने शहर और समाज को साफ रखें।

संस्कार फाउंडेशन की अध्यक्ष प्रमिता चौधरी ने कहा कि खुले में शौच जाने की आदत बदलना जरूरी.खुलेमें शौच जाने की आदत अभिशाप है.प्रमिता चौधरी ने मोके पर सभी को समझाया कि सार्वजनिक स्थानों पर इस तरह से गंदगी करने से बीमारी फैलती है और उसको करने वाला भी बीमार पड़ जाता है.

प्रमिता चौधरी ने कहा कि स्वच्छता के क्षेत्र में भी जिले में बेहतर काम हो रहा हैं।हम सबकी नैतिक जिम्मेवारी होती हैं कि अपने घर,पड़ोस के साथ साथ जिले को साफ बनायें।अध्यक्ष प्रमिता चौधरी ने कहा कि स्वच्छता में ईश्वर का निवास होता है,इसलिए इसे अपनाना प्रत्येक इंसान का कर्तव्य हैं।अपने दैनिक जीवन में छोटी आदतों को अपना कर हम अपने कर्तव्य का निर्वहन कर सकते हैं और अपने प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत के सपनों को साकार कर सकते हैं।अध्यक्ष प्रमिता चौधरी ने सभी नागरिकों से आह्वान किया है कि वे खुले में शौच जाने की प्रथा के खिलाफ अभियान चलाएं .

परमिता चौधरी ने बताया कि,सार्वजनिक शौचालयों के बाहर सूचना पट्टी पर यह लिखा जाना चाहिए कि यह सभी शौचालय सरकार की तरफ से निशुल्क सुविधा प्रदान करते हैं ताकि कम आमदनी वाले लोग और यहां से गुजरने वाले नागरिक इस सुविधा का उपयोग कर सकें।

मोके पर अन्य सदस्य सीमा भारदवाज ने प्रशासन से माँग करते हुए कहा कि प्रसाशन इस तरह खुले में शौच जाने के लिए स्थान निर्धारित कर खुले में शोच जाने वालों के खिलाफ प्रशासन सख्ती से निबटे।सीमा भारदवाज ने कहा कि इससे गांवों तथा शहरों के स्थान गंदे ही नहीं होते हैं बल्कि आम जनता के स्वास्थ्य पर निहायत ही बुरा असर पड़ता है तथा साथ ही समाज में नैतिकता की गिरावट भी परिलक्षित होती है।वहीं सदस्य रेनू चौधरी ने मोके पर खुले में शोच कर रहे लोगो के फोटो खीच के face बुक पर सार्वजनिक किये.

समिति सदस्यों ने नुक्कड़ नाटक व गीत के माध्यम से  उपस्थित नागरिकों तथा वहां के दुकानदारों को स्वच्छता के महत्व के बारे में बताया गया।उन्हे बताया गया कि कचरे को यत्र तत्र न फेंके बल्कि थैली में रखकर किसी डस्टबीन में ही डालें.दीवारेां में पर कुछ न लिखें,सार्वजनिक स्थानों पर ध्रुमपान न करें,शौच के लिए शौचालय का ही उपयोग करें।

 

 

LEAVE A REPLY