मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट का मास्क ‘कायली’ बचाएगा प्रदूषण से

0
205

आजतक खबरें,फरीदाबाद:शहर की शान मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ने एक बार फिर अपनी कुशल तकनीकि शिक्षा का लोहा मनवाया है।मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट के छात्र एक बार फिर विदेश में भारत का झंडा लहराना के लिए तैयार हैं।

मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज के छात्र अब 12 फरवरी को सिडनी में होने वाले ग्रांड फिनाले में हिस्सा लेंगे।बी.टेक सीएसई के छात्रों ने माइक्रोसॉफ्ट इमैजिन कप-2019 के सेमी फिनाल राउंड में जगह बनाई है।छात्रों की ओर से एक ऐसा स्मार्ट मास्क बनाया गया है जो प्रदूषण से बचाएगा साथ ही अस्थमा पेशेंट्स के लिए इन्हेलर का भी काम करेगा।इस मास्क का नाम ‘कायली’ है।

आपको बता दें, सेमी फाइनल में एशिया के 12 देशों का चयन हुआ है,जिसमें सिर्फ भारत ऐसा देश है जिसके तीन प्रोजेक्ट शामिल हैं और इनमें से एक प्रोजेक्ट मानव रचना के छात्रों का है।माइक्रोसॉफ्ट इमैजिन कप को जीतने वाले को एक लाख यूएस डॉलर का ईनाम दिया जाएगा।

मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज के बी.टेक सीएसई (छठे सेमेस्टर) के छात्रों वासू कौशिक, आकाश भड़ाना और भरत सुंदल ने यह मास्क अपने मेंटर उमेश दत्ता की देखरेख में पूरा किया है।

 

LEAVE A REPLY