जानिए क्यों विजय प्रताप को देनी पड़ी चुनौती सीमा त्रिखा को खुले मंच पर आने की ?

0
218

आजतक खबरें,फरीदाबाद:हरियाणा में चुनावी सरगर्मियां तेज हो चुकी हैं,जहाँ 21 अक्टूबर को हरियाणा में विधानसभा चुनाव को लेकर वोटिंग होनी है वहीं तमाम राजनीतिक पार्टियों के दावेदार अपना दम दिखाते हुए लोगों का वोट बैंक अपने पाले में करने के लिए लगे हुए हैं।जैसे जैसे विधानसभा चुनाव की तारीख नजदीक आ रही है,वैसे वैसे विधानसभा का चुनावी पारा भी चढ़ता जा रहा है।

बयानों के जरिए भाजपा और कांग्रेस के नेता एक-दूसरे पर निशाना साध रहे हैं।भाजपा जहाँ एक तरफ अपनी विजय पताका को एक बार फिर गाड़ने की कोशिश कर रही है,तो वहीं सत्ता से बाहर कांग्रेस वापसी के लिए पुरजोर ढंग से जुटी है।राजनीति के धुरंधर खिलाड़ी जीत के संदर्भ में अपने-अपने दावे कर तरकश के तीर एक एक कर निकाल रहे हैं।

इसी चुनावी तरकश से अब जो तीर निकला है वह है बड़खल विधानसभा के पंजाबी और नॉन पंजाबी समाज को बाटना,उनके भाई चारे हो खत्म करना।वो बात अलग है इस जंग लगे तीर का इस्तेमाल फरीदाबाद बार चुनाव में भी हो चूका है जो निशाने तक नहीं पहुंच पाया था। 

बतादें हाल ही में पूर्व मंत्री चौ० महेंद्र प्रताप का एक मैसेज सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमे पंजाबी और नॉन पंजाबियों को लेकर बात सामने आ रही है।

इस बारे में जब बड़खल विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी व चौ० महेंद्र प्रताप के पुत्र विजय प्रताप से जब उनका पक्ष जाना चाहा तो उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी वोट बैंक के चक्कर में समाज में जातपात का जहर घोल रही है।

विजय प्रताप ने भाजपा प्रत्याशी को चुनौती देते हुए कहा कि भाजपा उम्मीदवार इस विषय पर कभी भी,कहीं भी जनता के सामने खुले मंच पर आ कर बहस कर लें।और उनमे हिम्मत है तो पूरी वायरल ऑडियो को खुले मंच से पूरी सुना कर दिखाएँ।

 विजय प्रताप ने भाजपा प्रत्याशी पर आरोप लगते हुए कहा कि इस वायरल ऑडिओ को अपने चाटुकारों के माध्यम से वायरल करवाने के पीछे भाजपा नेताओं का ही हाथ है क्योकि यह हमेशा से ही भाजपा की चुनावी रणनीति रही है कि जाति व् धर्म के नाम पर चुनाव के समय वोट के लिए सामाजिक भाई चारे को खत्म कर,दंगे करवा अपने पक्ष में माहौल बनाना।

कांग्रेस प्रत्याशी विजय प्रताप ने बड़े हैरानी भरे हुए शब्दों में कहा कि मेरा तो पूरा बचपन ही इसी पुरुषार्थ बिरादरी के बीच खेलते-कूदते,पढ़ते,व्यपारिक लेनदेन करते हुए बीता है।मैंने और मेरे पिता चौधरी महेंद्र प्रताप ने कभी भी जात-पात या धर्म को लेकर राजनीति नहीं की।आज केवल राजनीतिक षड्यंत्र के तहत ये हमारा भाई चारा खत्म करवाया जा रहा है।

उक्त वायरल ऑडियो के विषय पर बताते हुए विजय प्रताप ने बताया कि वायरल की जा रही ऑडिओ क्लिप फरीदाबाद बार चुनाव के समय की है जिसे उस समय भी ऐसे ही फरीदाबाद कोर्ट परिसर में जाति के नाम वकीलों के भाई चारे को बाटने की रणनीति के तहत कांट-छाँट कर चलवाया गया था।वो बात अलग है कि तब भी विधायक पति समर्थित कैंडिडेट को मुँह की खानी पड़ी थी।

विजय प्रताप के मुताबिक भाजपा जहां अपने राजनीतिक लाभ के लिए धर्म,जात-पात के मुद्दे को उठाती है तो वहीं कांग्रेस ने हमेशा इससे दूरी बनाने की कोशिश की है।हरियाणा को महंगाई-बेरोजगारी नियंत्रित करने में पूरी तरह फेल बताते हुए विजय प्रताप ने भाजपा पर व्यापारिओं-बेरोजगारों की अनदेखी का आरोप भी लगाया।

विजय प्रताप ने कहा कि भाजपा शासन में राज्य का व्यापारी वर्ग,नौकरी करने वाला,दलित समुदाय,मजदूर सब तबाह-परेशान है और उनकी दिक्कतों का समाधान सिर्फ वो ही कर सकते हैं।

विजय प्रताप ने कहा कि आने वाली 21 अक्टूबर को भाजपा विधायिका से विधानसभा की जनता वोट के माध्यम से
बड़खल झील को पुनः जीवित करने का 5 साल से दिया जा रहा आश्वासन,स्मार्ट सिटी के नाम पर दिखाए गए सपने,अरावली में अवैध कब्जे,एक कोने में दश्हरा ग्राउंड में सिसकता  रहा रावण,बिजली समस्या के विषय पर बात करने गए कलोनिवासिओं पर पुलिस की मार व् हवालात,त्योहारों के समय खोद कर छोड़ी गयी सड़कों से हुआ आर्थिक नुकसान का हिसाब माँगेगी।

 

 

LEAVE A REPLY