एमएसएमई उद्योग होंगे रेगुलराइज : मुख्यमंत्री

0
20

आजतक खबरें,फरीदाबाद :मुख्यमंत्री ने हरियाणा औद्योगिक सर्वेक्षण. 2019 करवाने की घोषणा की। इसके अलावा फरीदाबाद के नॉन कन्फर्मिंग एरिया में 70 प्रतिशत से अधिक भौगौलिक क्षेत्र में विकसित ईकाइयों को नियमित किया जाएगा। 70 प्रतिशत से कम क्षेत्र की ईकाइयों को भी अलग प्रकार से सरकार का राहत प्रदान करने का प्रस्ताव है, जिसके तहत ऐसे क्षेत्रों के लोगों के रहन-सहन को बेहतर किया जाएगा, इसके लिए सरकार द्वारा पीपीपी मोड पर ऐसे उद्यमियों को दूसरे स्थान पर जमीन भी मुहैया करवाई जाएगी और उस क्षेत्र को वाणिज्यिक क्षेत्र घोषित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसी वाणिज्यिक क्षेत्र से प्राप्त राजस्व हरियाणा सरकार और उद्यमी 50-50 प्रतिशत के अनुपात में वहन करेंगे।अपने 50 प्रतिशत के इस राजस्व से उद्यमी दूसरी जगह जमीन खरीद सकते हैं और अपनी ईकाइ स्थापित कर सकते हैं। इससे दूसरे क्षेत्र का भी विकास होगा। सरकार की नई उद्यमी प्रोत्साहन नीति. 2015 के तहत औद्योगिक क्षेत्र में पिछड़े ग्रुप. सी व डी खंडों में अनेक रियायतें दी गई हैंए जिसमें 20 किलोवाट लॉड तक की ईकाईयों के लिए बिजली की दर 4.75 प्रति युनिट की गई है। इसके अलावा, नए स्थापित उद्योगों में हरियाणा के लोगों के लिए रोजगार देने के लिए 3 साल तक सरकार की ओर से 3 हजार रुपये महीना अर्थात 1 लाख 8 हजार रुपये उस उद्यमी को दिए जाएंगे

मुख्यमंत्री आज फरीदाबाद के सेक्टर.12 में अखिल भारतीय विनिर्माण प्रसंघ के समन्वय से हरियाणा चैपटर द्वारा आयोजित हरियाणा महाउद्योग संगम. 2019 में मुख्यातिथि के रुप में उपस्थित उद्यमियों को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि फरीदाबाद से उनका पुराना नाता है, फरीदाबाद का जिस ढंग से औद्योगिक विकास होना चाहिए था वह पिछली सरकारों ने नहीं किया, उन्होंने कहा कि पुराने फरीदाबाद के घर – घर में छोटी – छोटी इकाई हैं।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने औद्योगिक नगरी फरीदाबाद के लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्योगों को बड़ी राहत प्रदान करते हुए नॉन कन्फर्मिंग एरिया के 70 प्रतिशत से अधिक भौगौलिक क्षेत्र में विकसित एमएसएमई ईकाइयों को रेगुलर किये जाने सहित अनेक घोषनाएं की।

उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री विपुल गोयल ने समारोह में पहुंचने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि पहली बार कोई मुख्यमंत्री एमएसएमई उद्यमियों के साथ सीधे संवाद के लिए फरीदाबाद आए हैं अन्यथा पहले उद्यमियों को चंडीगढ़ व दिल्ली औपचारिकता मात्र बुलाया जाता था। उन्होंने कहा कि यह औद्योगिक विकास के प्रति मुख्यमंत्री का विज़न दर्शाता है। उन्होंने कहा कि एचएसआईआईडीसी के औद्योगिक प्लॉट आज से साढ़े 4 वर्ष पहले प्राप्त करने के लिए कितने धक्के खाने पड़ते थे, अब सरकार इसमें पूरी पारदर्शिता लेकर आई है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रसंघ की स्मारिका का विमोचन भी किया। कार्यक्रम में विधायक मूलचंद शर्मा, टेकचंद शर्मा व नागेंद्र भडाना, बीजेपी जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार अमित आर्य, श्रम आयुक्त नितिन यादव,सहित तमाम बड़े अधिकारी उपस्थित थे।

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY