नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक ने किया सूरजकुंड मेले का दौरा

0
21

आजतक खबरें,फरीदाबाद-11 फरवरी:नाबार्ड हरियाणा क्षेत्रीय कार्यालय के मुख्य महाप्रबंधक अरुण कुमार शुक्ला ने 9 फरवरी 2019 को सूरजकुंड मेले में स्टालों का दौरा किया।उनके साथ नाबार्ड, हरियाणा क्षेत्रीय कार्यालय के उप महाप्रबंधक पी.एल. नेगी और नाबार्ड के सहायक महाप्रबंधक सुबोध कुमार एवं सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक के प्रबंधक सुरेन्द्र जग्गा व राम कुमार मल्होत्रा भी मौजूद थे।

मुख्य महाप्रबंधक अरुण कुमार शुक्ला ने बताया कि ग्रामीण शिल्प और दस्तकारी को बढावा देने के उद्देश्य से नाबार्ड ने 33वें सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेले में  50 स्टॉल प्रायोजित किए हैं ताकि देश के ग्रामीण कारीगरों और दस्तकारों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का यह मंच सुलभ हो सके।

अरुण कुमार शुक्ला ने कहा कि देश भर के ग्रामीण कारीगरों को विपणन मार्केटिंग का अवसर मुहैया कराने के प्रयोजन से नाबार्ड पिछले नौ सालों से सूरजकुंड मेले में भाग ले रहा हैए जिसके तहत नाबार्ड स्टॉलों को प्रायोजित करने के अलावाए कारीगरों के आने-जाने और ठहरने का मुकम्मल इंतजाम भी करता है।

इन स्टॉलों में हैंडलूम, लकडी की पेंटिंग, लकडी के खिलौने, भदोई की कालीनें, बकरी के दूध से बने साबुनए पीतल और तांबे के सामानए पंजाबी जूतियाँ, ऊन और पशमीना के गरम परिधानए चूडियाँ, सिल्क साडियाँ और वस्त्र.सामग्री, टेराकोटा, कढाईदार परिधान, केन और बांस के उत्पादए एप्लीकए फुलकारीए आर्टिफिशियल ज्वेलरी, जूट बैग और जूट के उपयोगी उत्पाद तथा विभिन्न सजावटी सामान सबका मन लुभा रहे हैं।

गौरतलब है कि, नाबार्ड के हरियाणा क्षेत्रीय कार्यालय की यह एक अनूठी पहल हैए जिसके जरिये अंतर्राष्ट्रीय ख्याति के इस मेले में देश के ग्रामीण शिल्पकारों और स्वयं सहायता समूहों के सदस्योंए विशेषकर महिला कारीगरों की पहुँच सुलभ कराई जाती है। 33वें सूरजकुंड मेले के नाबार्ड गलियारे में 25 राज्यों के 115 ग्रामीण कारीगर और शिल्पकार शिरकत कर रहे हैं। इनमें से कुछ शिल्पकार राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर सम्मानित भी हो चुके हैं।नाबार्ड द्वारा प्रायोजित 5० स्टॉलों में स्तरीय शिल्प.सामग्री तथा आकर्षक और अनूठी कला, वस्तुएं मेला प्रेमियों के दिलों में खसी जगह बना चुकी हैं।

LEAVE A REPLY