जानिए क्यों फूंका गया शिक्षामंत्री राम विलास का पुतला कॉलेज के सामने ?

0
46

आजतक खबरें,फरीदाबाद:एमडीयू की तरफ से दाखिले को लेकर लगाई गईं शर्तों के विरोध में एनएसयूआई ने कॉलेज के सामने शुक्रवार को हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा का पुतला फुंका।इस दौरान एनएसयूआई के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने कहा कि एमडीयू ने तुगलकी फरमान जारी किया है कि द्वितीय वर्ष में दाखिला लेने के लिए प्रथम सेमेस्टर के 50 फीसदी विषय में पास होना अनिवार्य है।जबकि तृतीय वर्ष में दाखिला लेने के लिए प्रथम सेमेस्टर के 100 फीसदी विषयों में पास होना अनिवार्य है।

अत्री ने कहा अगर यूनिवर्सिटी प्रशासन और हरियाणा सरकार को कोई नियम लागू करना है तो पहले छात्रों को पढ़ाई वाला माहौल दे। कॉलेजों में स्टाफ की कमी को दूर करे। यूनिवर्सिटी की रिजल्ट प्रणाली में सुधार करे। सारी सुविधाएं मिलने के बाद छात्र किसी भी नियम को स्वीकार करेंगे।उन्होंने कहा एक तरफ तो कॉलेजों में स्टाफ की कमी है,मूलभूत सुविधाएं नहीं हैं वहीं दूसरी तरफ सरकार इस तरह के निर्णयों से छात्रों को परेशान कर रही है।

इस दौरान एनएसयूआई के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने कहा कि एमडीयू ने तुगलकी फरमान जारी किया है कि द्वितीय वर्ष में दाखिला लेने के लिए प्रथम सेमेस्टर के 50 फीसदी विषय में पास होना अनिवार्य है।जबकि तृतीय वर्ष में दाखिला लेने के लिए प्रथम सेमेस्टर के 100 फीसदी विषयों में पास होना अनिवार्य है। उन्होंने कहा एक तरफ तो कॉलेजों में स्टाफ की कमी है, मूलभूत सुविधाएं नहीं हैं वहीं दूसरी तरफ सरकार इस तरह के निर्णयों से छात्रों को परेशान कर रही है.

एनएसयूआई नेता ने कहा जबसे दाखिला प्रक्रिया शुरू हुई है तभी से छात्र कभी फीस बढ़ोतरी तो कभी ऑनलाइन दाखिला प्रक्रिया में आ रही परेशानियों को लेकर परेशान हैं।उन्होंने कहा कि समय रहते छात्रों की समस्याओं का समाधान किया जाए।यदि ऐसा नहीं हुआ तो छात्र सड़कों पर उतरेंगे।

LEAVE A REPLY