फिर मनवाया विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल ने अपना लोहा

0
237

आजतक खबरें,बल्लबगढ़(अमित चौधरी):सरकार के बेटी पढ़ाओ,बेटी बढ़ाओ के अभियान को जमीनी स्तर पर अपने विध्यालय की गुणवत्ता के दम पर पूरा करने का लक्ष्य हासिल करने के लिए इस विध्यालय के शिक्षक अपने कर्तव्य के प्रति कितने गम्भीर हैं इसका अंदाजा हाल ही में घोषित हुए इस विध्यालय के 12वीं व् 10वी के परिणामों को देखकर सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

जी हां आप ठीक समझ रहे हैं हम बात कर रहे हैं विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल की जिसने हाल ही के वर्षों में अपने शिक्षा व शिक्षकों की गुणवत्ता, अनुशासन, आचार विचार,नैतिकता के दम पर शहर में खुले हुए हजारों स्कूलों की भीड़ से अलग हट एक विशेष पहचान बनाई है।

पिछले कुछ वर्षों में 10वी या 12वी का परिणाम हो, खेल का मैदान हो या फिर योग व अन्य प्रतियोगिताएं,हर मैदान में विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल ने अपना लोहा मनवाया है।इसी का परिणाम है कि इतने कम वर्षों में ही आज विद्यासागर स्कूल की गिनती शहर के गिने-चुने अच्छी गुणवत्ता वाले स्कूलों में होती है।शायद यही कारण है कि स्कूल में प्रवेश के लिए भारी संख्या में आवेदन आते हैं लेकिन विद्यालय में शिक्षा के स्तर की गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए विध्यालय कमेटी द्वारा निर्धारित चयन प्रक्रिया से रूबरू होने के बाद ही विध्यालय में एडमिशन दिया जाता है।

बतादें विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल ने अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन को जारी रखते हुए इस वर्ष भी सीबीएसई की कक्षा 12वीं व् 10वी में शत प्रतिशत परीक्षा परिणाम हासिल किया।

खुशी जाहिर करते हुए विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल चेयरमैन धर्मपाल यादव ने कहा कि स्कूल के द्वारा शत प्रतिशत परीक्षा परिणाम प्राप्त करना उनके लिए बड़े गर्व की बात है और इसके लिए स्कूल का मेहनती, कुशल और अनुभवी अध्यापक और स्टॉफ मेंबर बधाई के पात्र हैं।चेयरमैन धर्मपाल यादव ने छात्रों के अभिभावकों द्वारा मिलने वाले सहयोग के लिए भी उनका धन्यवाद किया।

चेयरमैन धर्मपाल यादव ने 12वी पास करने वाले छात्रों को बधाई व् सलाह देते कहा कि“छात्रों को विषय को रटने के स्थान पर,अच्छे से समझ कर अच्छे अंक लाने चाहिए जिससे उनका भविष्य बेहतर बन सके।उन्होंने कहा कि स्कूल में बिताया गया वक्त,जीवन के सबसे सुनहरे लम्‍हें होते हैं।

इस अवसर पर स्कूल के डॉयरेक्टर दीपक यादव ने कहा कि उन्हें बेहद खुशी है कि छात्रों ने अपनी मेहनत और लगन से परीक्षा पास की और शत प्रतिशत रिजल्ट हासिल किया।

डॉयरेक्टर दीपक यादव ने कहा कि ”स्कूल में पढ़ने का मतलब केवल बोर्ड परीक्षा देना नहीं है बल्कि यह उससे बहुत ज्यादा है. यहां आप बहुत से नए विषयों के बारे में जानते हैं और बहुत कुछ सीखते हैं. इसके साथ ही आप मूल्‍य और अन्य कौशल भी सीखते हैं”।

इस अवसर पर दीपक यादव ने इस सफलता का श्रेय अध्यापकों और स्कूल स्टॉफ को देते हुए यह आश्वासन दिया कि आगे भी स्कूल के परीक्षा परिणामों को शत-प्रतिशत पर सुनिश्चित किया जाएगा।


डॉयरेक्टर दीपक ने कहा कि उनका हमेशा से ही यह लक्ष्य रहा है कि छात्रों को शिक्षा ग्रहण करने के लिए एक बेहतर वातावरण उपलब्ध हो जिससे छात्रों की प्रतिभा का संपूर्ण सृजन हो सके। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के चलते अभी स्कूल चालू नहीं हैं लेकिन छात्रों को ऑनलाइन क्लॉस के जरिए इस आपदा से निपटा जा रहा है।

मौके पर यादव ने कहा कि इसके साथ ही पिछले अन्य वर्षों की भांति भी छात्राओं के शिक्षा स्तर को सुधारने के लिए छात्रवृति और मुफ्त एडमीशन की सुविधा रखी गई है साथ ही मेरिट प्राप्त छात्रों को दी जाने वाली स्कॉलरशिप को भी बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है,ताकि कोरोना महामारी के दौरान आर्थिक रूप से प्रभावित हुए अभिभावकों को कुछ और राहत मिल सके।

स्कूल के चेयरमैन धर्मपाल यादव, डॉयरेक्टर दीपक यादव, शमी यादव, अकेडमिक डॉयरेक्टर सीएल गोयल एवं प्रधानाचार्य श्रीमती कुलविंदर कौर, योगेश चौहान एवं सभी अध्यापक-अध्यापिकाओं ने खुशी जाहिर करते हुए सभी विद्यार्थियों को उनके बेहतर और सुनहरे भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।

 

LEAVE A REPLY