रंगोली व् महंदी प्रतियोगिता से “बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ ” का सन्देश दिया आंगनवाड़ी में

0
74

आजतक खबरें,बल्लबगढ़ :महिला ही समाज का निर्माण करती है।आज हर क्षेत्र में महिलाएं परचम लहरा रहीं हैं।जिस तरह से रंगोली में रंग उकेरे हैं,ठीक उसी तरह जिंदगी को भी रंगों की तरह ही सजाकर रखना है उक्त शब्द डीग गांव में “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” के तहत रंगोली व मेहंदी प्रतियोगिता के दौरान महिला एवं बाल विकास बल्लभगढ़ ग्रामीण की सुपरवाइजर शालू द्धारा अपने संबोधन में छात्राओं से यह बात कही गई।

सुपरवाइजर शालू ने बताया कि प्रतियोगिता में छात्राओं ने जागरूकता का संदेश लिये रंगोली एवं मेहंदी प्रतियोगिता में  भाग लिया जिसमें कन्या भू्रण हत्या,बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ,स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत,मतदाता जागरूकता का संदेश लिये थी।

मौके पर महिला एवं बाल विकास बल्लभगढ़ ग्रामीण की सुपरवाइजर शालू द्धारा छात्राओं को लगातार मेहनत करते हुए आगे बढ़ने को प्रेरित किया गया। प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका में सुपरवाइजर शालू,राज,गीता रही।

प्रतियोगिता के समापन पर सभी छात्राओं ने साझा शपथ लेते हुए बेटी पढ़ाओ,बेटी बचाओ के संकल्प को दोहराया।

बता दें रंगोली रे मेहंदी कंपटीशन में फतेहपुर बिल्लौच गांव की आठवीं से लेकर दसवीं कक्षा की लड़कियों ने भी भाग लिया।छात्राओं ने रंगोली बनाकर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया।प्रतियोगिता में छात्राओं ने उत्साह से हिस्सा लिया।

प्रतियोगिता में विजेता रही छात्राओं को पुरस्कृत किया गया।रंगोली व् मेहंदी कंपटीशन में पहले,दूसरे,तीसरे स्थान पर आयी प्रतिभागियों को “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ”का छाता देकर सम्मानित भी प्रोत्साहित किया गया.इस मौके पर आंगनवाड़ी वर्कर व स्कूल शिक्षिकाएं भी शामिल रही।

 

 

 

LEAVE A REPLY