बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वाले अपराधी को फांसी की सजा

0
5508

आजतक खबरें,नई दिल्ली:आये दिन बलात्कार की घटनाएं सामने आ रहीं हैं तथा ये घटनाएं लगातार बढ़ती जा रहीं हैं। 16 दिसंबर की दिल्ली गैंगरेप की घटना के बाद पूरे देश में बलात्कार व महिलाओं पर हो रहे यौन अपराधों के विरुद्ध जनाक्रोश चरम पर था देश का बच्चा,बूढ़ा,जवान,महिलाएं सभी बलात्कारियों को तत्काल फाँसी दिए जाने की मांग कर प्रदर्शन कर रहे थे।जनता के आक्रोश के आगे झुकते हुए सरकार ने मजबूर होकर बलात्कार विरोधी नया कानून बनाया।उस बलात्कार काण्ड में एक आरोपी नाबालिग था।चारों ओर से मांग उठी थी कि नाबालिग़ को भी फांसी की सजा दी जाए।वयस्क की आयु कम करने के लिये भी बहसें हुईं,लेकिन अंततोगत्वा वयस्क आयु कम नहीं की गई।उस समय नाबालिग आरोपी केवल एक ही था।अब आये दिन छोटी उम्र की अबोध बच्चियों के साथ बलात्कार की घटनाएं सामने आ रहीं हैं।देश का कोई भी राज्य इस तरह की घटनाओं से अछूता नहीं है।अब तो बलात्कार के प्रकरणों में नाबालिग लड़कों की संलिप्तता अधिक देखी जा रही है।

पिछले कुछ दिनों में राज्य में अबोध बच्चियों से दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले सामने आ रहे हैं।राज्य में अबोध बच्चियों से दुष्कर्म की बढ़ती घटनाओं को रोकने के लिए हरियाणा सरकार बजट सत्र में एक प्रस्ताव लाएगी। इसमें 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वाले अपराधी को फांसी की सजा दिलाने का प्रावधान होगा।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नई दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में शनिवार देर सायं इस बाबत राज्य के पुलिस महानिदेशक बीएस संधु और सीआइडी के पुलिस महानिरीक्षक अनिल राव से करीब एक घंटे तक मंत्रणा की तथा आदेश दिया कि विधानसभा में पेश किए जाने वाले प्रस्ताव का मसौदा कानूनविदों के साथ मिलकर तुरंत तैयार किया जाए।मुख्यमंत्री की इस घोषणा के बाद राज्य में विपक्ष द्धारा दुष्कर्म की वारदातों को राजनीतिक मुद्दा बनाए जाने की मुहिम को भी धक्का लगेगा।

बता दें कि हरियाणा भाजपा के मीडिया प्रमुख राजीव जैन ने भी 16 जनवरी को मुख्यमंत्री मनोहर लाल को पत्र लिख अपराधियों पर सख्त कार्रवाई के लिए चार सुझाव दिए थे। प्रदेश में अभी तक दुष्कर्म के करीब डेढ़ दर्जन मामले सामने आ चुके। जैन ने पत्र में छोटी बच्चियों और महिलाओं के खिलाफ होने वाले घिनौने अपराध की सूरत में अदालत में प्रतिदिन सुनवाई की व्यवस्था की मांग की थी। मुख्यमंत्री ने राज्य में महिलाओं के खिलाफ़ बढती हिंसा की घटनाओं पर दुख प्रकट किया और भरोसा दिलाया कि दोषियों को सज़ा दिलवाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी.

शनिवार कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने तो यहां तक घोषणा की थी कि अगले सप्ताह में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी राज्य का दौरा करेंगे। इतना ही नहीं खुद राहुल गांधी ने शुक्रवार सायं ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हरियाणा में बढ़ती दुष्कर्म की वारदातों पर सवाल किया था कि मन की बात कार्यक्रम में क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरियाणा में दुष्कर्म की वारदातों की बाबत भी कुछ कहेंगे या उनके पास इन्हें रोकने के लिए क्या योजना है? माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री की मन की बात से पहले राज्य की मनोहर लाल सरकार ने न सिर्फ विपक्ष को जवाब दिया है बल्कि राज्य की जनता को भी यह संदेश दिया है कि राज्य सरकार अपराध और अपराधियों से निपटने के लिए हर संभव प्रयास करेगी।

हरियाणा पुलिस महानिदेशक बीएस संधु ने बताया कि ,मुख्यमंत्री महोदय ने हमें 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ होने वाले दुष्कर्मियों को फांसी की सजा मिलने वाला कानून का मसौदा तैयार करने का आदेश दिया है। हरियाणा सरकार अपराध और अपराधियों पर अंकुश लगाने के लिए हर संभव सशक्त कदम उठा रही है। शुक्रवार से राज्य में शुरू हुए आपरेशन दुर्गा को भी नियमित रूप से चलाया जाएगा। दो दिन में इस अभियान के काफी बेहतर परिणाम सामने आए हैं।
,

LEAVE A REPLY