मजदूर की ऊँगली कटी तो विधायक ने कर दी श्रम विभाग में ऊँगली टेढ़ी

0
375

आजतक खबरें,फरीदाबाद(अमित चौधरी):आज शहर की एक बड़ी कंपनी में प्रेस मशीन पर काम करते वक्त कटी ऊँगली पूरे दिन श्रम(शर्म) विभाग के लिए सिर दर्द बनी रही। बनती भी क्यों न विभाग पर ऊँगली उठाई भी तो शहर के विधायक ने ही थी।

जी हाँ हम बात कर रहे हैं एनआईटी विधायक नीरज शर्मा की जिनकी पहचान जमीनी मुद्दों को उठाने वाले एक जुझारू नेता की बन गयी गयी है,जो जनता की समस्या को समझ उस दर्द को महसूस करने के लिए कभी जूते कपड़े उतार गंदे बदबूदार पानी में उतर जाते हैं तो कभी शराब माफिया को रोकने के लिए जनता को साथ ले रात को छापेमारी करने बस्ती कॉलोनी में निकल जाते हैं।

इसी क्रम में नौकरी से निकाले जा रहे मजदूरों का दर्द समझ जब विधायक नीरज शर्मा अपना लावलश्कर ले jcb कंपनी के दरवाजे पर तम्बू गाड़ राम नाम का जाप कर इस कोरोना काल में भी एक महीने तक श्रमिकों की समस्याओं को उठाते हुए आवाज बुलंद करते रहे तब भी इस श्रम(शर्म)विभाग के अधिकारियों के कान पर जूं नहीं रेंगी।

लेकिन शहर की अन्य बड़ी कंपनी वीनस में हुए एक हादसे में मजदूर की कटी ऊँगली पर आज मौके पर उसी श्रम(शर्म)विभाग विभाग को खरी खोटी सुनाई और विभाग अधिकारी बुत बने सुनते रहे क्योकि आज ऊँगली अपने गिरेबान तक पहुँच रहीं थीं सीधे सीधे।

विधायक नीरज शर्मा ने कहा कि अगर श्रम विभाग ने रामायण पाठ सुना होता तो आज सागर की उंगलियां सलामत होती।विधायक ने कहा कि बिना प्रशिक्षण बिना ठेकेदार की अनुमति लिए कंपनी ने सागर को खतरनाक मशीन पर काम करने के लिए लगा दिया.यह श्रम कानूनों का उलंघन किया है।इसके लिए कंपनी प्रबंधन के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो और कंपनी का लाइसेंस रद्द हो।

विधायक नीरज शर्मा ने सहायक श्रम आयुक्त सतीश जी को आड़े हाथों लेते हुए बताया कि पहले भी इस कंपनी में 23 मजदूरों के अंग भांग हो चुके है।ऐसा क्या कारण है कि इस कंपनी में कर्मचारियों के अंग भांग हो जाते है साथ ही सहायक श्रम आयुक्त से सीधा सवाल करते हुए पूछा कि जिस कर्मचारी का हाथ कटा है,क्या वह मशीन पर काम कर सकता था?

सहायक श्रम आयुक्त सतीश जी द्धारा बगले झाकते हुए श्रम कानून का ज्ञान देने के बाद विधायक नीरज शर्मा ने इस पूर्ण मामले की जाँच पर सरकार से मांग कर करते हुए श्रम विभाग से बड़ा सवाल पूछ डाला कि क्या यह कर्मचारी मशीन पर काम कर सकता था?अगर नही तो ठेकेदार एवं कंपनी का लाइसेंस क्यों न किया जाये ?

गौरतलब है कि वीनस कंपनी में बुधवार को फिर हादसा हुआ।वीनस कंपनी में 10 जुलाई को भर्ती किए गए श्रमिक सागर की आज कंपनी में काम करते हुए तीन उंगलियां कट गईं। पहले भी इस कंपनी में 23 मजदूरों के अंग भांग हो चुके है।

नीरज शर्मा का आरोप है कि इस मामले में जब श्रम विभाग के आयुक्त पंकज अग्रवाल और फरीदाबाद की उप श्रमायुक्त सुधा चौधरी से की गई तो उन्होंने मामले के प्रति अनभिज्ञ जताई है।

LEAVE A REPLY